राज्य चुने

HomeBusinessफ्रांसीसी एमएनसी पैथस्टोर भारत की कोविड जांच रणनीति को बदलने के लिए...

फ्रांसीसी एमएनसी पैथस्टोर भारत की कोविड जांच रणनीति को बदलने के लिए तैयार

Category:

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

रु 299 की टेस्टिंग सर्विस के साथ लाॅन्च किया अनूठा अभियान ‘अबकी बार आरटी-पीसीआर’

- Advertisement -

संवाददाता (दिल्ली) कोविड-19 आरटीपीसीआर टेस्ट को किफ़ायती एवं सुलभ बनाने के प्रयास में पैथस्टोर फ्रांस ने एक टेस्टिंग अभियान ‘अबकी बार आरटी-पीसीआर’ का लाॅन्च किया है, जिसके तहत कंपनी कोविड-19 की जांच के लिए मात्र रु 299 में आरटी-पीसीआर टेस्ट की सुविधा उपलब्ध कराएगी। अपनी इस पहल के साथ कंपनी डायग्नाॅस्टिक इंडस्ट्री में क्रान्तिकारी बदलाव लाने के लिए तैयार है।

पैथस्टोर की ओर से पेश की गई किफ़ायती ‘गोल्ड स्टैण्डर्ड’ आरटी-पीसीआर जांच सुविधा, पर्यटन, उद्योगों एवं रीटेल सेक्टर की कार्यप्रणाली को सुगम बनाए रखने में मददगार होगी। कंपनी के अनुमान के मुताबिक अगर देश भर में कोविड टेस्टिंग की कीमतें कम हो जाएं तो राजकोष में सालाना 2 से 5 बिलियन अमेरिकी डाॅलर की बचत की जा सकती है।

इस अभियान के बारे में बात करते हुए अनुभव अनूषा, ग्लोबल सीईओ, जीनस्टोर ने कहा, ‘‘पैथस्टोर की ओर से पेश की गई कोविड-19 जांच सुविधा कोविड के खिलाफ़ लड़ाई में भारत एवं विश्वस्तर पर जांच रणनीति में बड़े सकारात्मक बदलाव लेकर आएगी। हमारा मानना है कि आर्थिक दृष्टि से कमज़ोर समुदायों के लिए उच्च गुणवत्ता की कोविड-19 जांच सुविधा को सुलभ बनाने में जांच की लागत एक बड़ी बाधा है। पैथस्टोर इतनी किफ़ायती कीमतों पर अन्तर्राष्ट्रीय गुणवत्ता की लैबोरेटरी टेस्टिंग एवं कस्टमर सर्विस उपलब्ध कराएगा ताकि 80 फीसदी से अधिक भारतीय आबादी के लिए जांच सेवाओं को सुलभ एवं आसान बनाया जा सके।’’

- Advertisement -

कीमत की रणनीति के फायदों पर बात करते हुए अनुभव अनूषा ने कहा, ‘‘वर्तमान में भारत में रोज़ाना 15 से 20 लाख टेस्ट हो रहे हैं, भारतीय अर्थव्यवस्था पर इसकी औसत लागत रु 3000 करोड़ प्रति माह आ रही है। एक अनुमान के मुताबिक रु 299 की कीमत पर टेस्टिंग शुरू करने से भारतीय उपभोक्ता प्रति माह रु 1500 की बचत कर सकेंगे, अगर गणना की जाए तो इस राशि से हर माह 1 करोड़ अतिरिक्त वैक्सीन खरीदी जा सकती हैं या कम से कम जांच का पैमाना तो दोगुना किया ही जा सकता है।’’
अबकी बार आरटी पीसीआर अभियान इन्फेक्शन पर नियन्त्रण पाने तथा गोल्ड स्टैण्डर्ड की टेस्टिंग के लिए युनिवर्सल कवरेज एवं सुलभता बढ़ाने की पैथस्टोर की रणनीति का अभिन्न हिस्सा है। कंपनी ने भारत की सबसे बड़ी आरटी-पीसीआर एवं बायोसेफ्टी लैवल 3 टेस्टिंग लैबोरेटरी स्थापित की है, जो एक दिन में 1 लाख सैम्पल हैण्डल करने में सक्षम है और इसका प्रबन्धन मेयो क्लिनिक, यूएसए द्वारा प्रशिक्षित 500 मेडिकल प्रतिनिधियों द्वारा किया जाएगा। कंपनी ने कोविड-19 आरटी पीसीआर सैम्पल कलेक्शन हेतु भारत के मैनपावर संकट को दूर करने के लिए एक अलाईड मेडिकल सर्विसेज़ टेªेनिंग एकेडमी का भी लाॅन्च किया है और वर्तमान में महामारी से लडने के लिए 1000 से अधिक लोगों को प्रशिक्षण दे रही है।

2020 की शुरूआत में मूल कंपनी जीनस्टोर फ्रांस ने स्पाइस हेल्थ के साथ संयुक्त उद्यम में रु 499 की टेस्टिंग सर्विस के साथ आरटी-पीसीआर मोबाइल लैबोरेटरीज़ का लाॅन्च किया था। जीनस्टोर ने जनवरी 2021 में स्पाइस हेल्थ के साथ संयुक्त उद्यम साझेदारी समाप्त कर ली थी।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here