राज्य चुने

HomeBusinessसोनू सूद ने भारत के ग्रामीण इलाकों में कोविड-19 के वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन...

सोनू सूद ने भारत के ग्रामीण इलाकों में कोविड-19 के वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन के लिए विश्व के विशालतम वालंटियर प्रोग्राम COVREG की शुरुआत की

Category:

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

संवाददाता (दिल्ली) सोनू सूद ने अपनी नई पहल COVREG की शुरुआत की। यह दुनिया का सबसे बड़ा वॉलंटियर प्रोग्राम होने वाला है। इसका उद्देश्य ग्रामीण भारत में कोविड-19 टीकाकरण पंजीकरण के लिए लोगों को अधिक से अधिक उत्साहित करना है। इसे रूलर फिनटेक लीडर स्पाइस मनी का सहयोग प्राप्त है। यह पहल के अंतर्गत www.covreg.in वेबसाइट के माध्यम से वालंटियरों को जोड़ा जाएगा। वॉलंटियर्स इस पहल के लिए अपना रजिस्‍ट्रेशन कर लेंगे तो उन्हें एक ऐप दिया जाएगा। इस ऐप की मदद से वे लगभग 95 करोड़ भारतीय ग्रामीण आबादी तक पहुँच पायेंगे और उन्हें कोविड वैक्‍सीनेशन के रजिस्‍ट्रेशन में मदद करेंगे। यह आबादी भारत की कुल आबादी के 65% से अधिक है। ऐप बनाने के लिए स्पाइस मनी तकनीकी विशेषज्ञता प्रदान करेगा। वर्तमान में, स्पाइस मनी अपने अधिकारी ऐप और वेब पोर्टल को कोविन प्लेटफॉर्म पर पुनर्निर्देशित करता है। इसका उपयोग ग्रामीण भारत में कार्यरत 2 लाख से अधिक अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। इसके माध्यम से वे अपने ग्राहकों को कोविड वैक्‍सीनेशन के लिए पंजीकृत होने में मदद करेंगे।

- Advertisement -

COVREG को स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा ऐप्लिकेशन सर्विस प्रोवाइडर (ए एस पी) के रूप में अधिकृत किया गया है जो संरक्षित कोविन एपीआई के साथ काम करता है। यह पहला एएसपी सक्षम बी-टू-बी ऐप होगा, जो कोविड वैक्‍सीनेशन रजिस्‍ट्रेशन के लिए एक सहायक मॉडल की अनुमति देगा।

ग्रामीण भारत मे आज भी डिजिटल साक्षरता की कमी है जिसके कारण गाँव के लोग वैक्‍सीनेशन के लिये मिल रही डिजिटल सुविधाओं का फायदा नहीं उठा पा रहे हैं। वे टीकाकरण के लिए स्वयं का पंजीकरण नहीं करा पा रहे। COVREG ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटल साक्षरता, बुनियादी ढाँचे और पहुँच की कमी से संबंधित चुनौतियों का समाधान करेगा। COVREG स्वयंसेवक ग्रामीणो को शिक्षित कर, टीकारण के बारे में फैले मिथकों को दूर करेगा। टीका लगवाने में लोगों की झिझक समाप्त करने की दिशा में भी ये वॉलंटियर काम करेंगे। वॉलंटियर, ग्रामीणों का रजिस्‍ट्रेशन करेंगे और वैक्‍सीनेशन की दोनों खुराकों के लिए स्लॉट बुक करेंगे। वॉलंटियर, यह सुनिश्चित करेंगे कि ग्रामीण टीकाकरण केंद्रों तक पहुँचें और टीकाकरण के बाद उन्हे प्रमाणपत्र भी दिये जायेंगे।

COVREG वॉलंटियर्स को आईडी प्रमाण की कमी आदि जैसी विभिन्न परिस्थितियों का सामना करने के लिए भी प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि ऐसे मामलों में वे लाभार्थियों को ऑनलाइन पैन कार्ड के लिए आवेदन करने में सहायता सकें। स्मार्टफोन और 4G कनेक्टिविटी रखने वाला कोई भी व्यक्ति www.covreg.in पर रजिस्टर करके वॉलंटियर बन सकता है।
स्पाइस मनी के 5 लाख से अधिक अधिकारियों (बैंकिंग करेसपांडेन्ट एजेंट) और भागीदारों के व्यापक नेटवर्क का इस्तेमाल वॉलंटियर के रूप मे किया जाएगा। इनकी पहुँच 95% ग्रामीण पिन कोडों तक है जिसकी मदद से ज्यादा-से-ज्यादा ग्रामीणो तक पहुँचा जा सकेगा। सोनू सूद चैरिटी फ़ाउंडेशन से जुड़े स्वयंसेवक भी COVREG स्वयंसेवी नेटवर्क का हिस्सा होंगे। सोनू सूद चैरिटी फ़ाउंडेशन का लक्ष्य विशेष रूप से COVREG पहल के लिए बड़ी संख्या में वॉलंटियर्स की भर्ती करना है।

- Advertisement -

सहयोगी संगठन, एक सोच फाउंडेशन जमीनी स्तर पर वालंटियर प्रबंधन का कार्य संभालेगा। इतना विशाल कार्यबल जुटने से भारत के हर कोने में सही सूचना, शिक्षा प्रदान करने और भय कम करने में मदद मिलेगी।

अभिनेता और समाज-सेवी, सोनू सूद ने कहा कि, “भारत में कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिए टीकाकरण, आज के समय की जरूरत है। महामारी से निपटने के लिए ग्रामीण भारत संघर्ष कर रहा है। अब तो वैक्सीन के रजिस्‍ट्रेशन के लिये भी ग्रामीणो को संघर्ष करना पड़ रहा है। ग्रामीण भारत की विस्तृत समझ के आधार पर ही COVREG को बनाया गया है। महीनों से जमीनी स्तर काम किए गये हैं। इसके दौरान उनकी जरूरतों को समझा गया, जिसके आधार पर COVREG की शुरूआत हुई। COVREG, वैक्सीन रजिस्‍ट्रेशन के ग्रामीण-विशिष्ट मुद्दों को समझता है। झिझक रखने वाले ग्रामीणो को जरूरी सहायता प्रदान करता है। पड़ोस मे रहने वाले वॉलंटियर से जो विश्वास पैदा होगा, उससे रजिस्‍ट्रेशन कराने के लिए ग्रामीणो के बीच उत्साह बढ़ेगा।”
स्पाइस मनी के संस्थापक दिलीप मोदी ने कहा कि, “ग्रामीण आबादी का टीकाकरण ही कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने और ग्रामीण आजीविका के पुनर्निर्माण का एकमात्र तरीका है। हमने COVREG का ऐसा मॉडल बनाया है जो टीकाकरण के लिए पंजीकरण कराने में ग्रामीणो के सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान करने मे मदद करेगा। टीकाकरण के इस पूरे सफर के दौरान स्वयंसेवक ग्रामीणो का साथ देंगे और दोनों टीकाकरण खुराक के लिए बुकिंग की सुविधा प्रदान करेंगे। हम हमेशा सोनू सूद के परोपकारी कामों को देख कर जोश से भर जाते हैं। COVREG के साथ साझेदारी करना ग्रामीण विकास की दिशा में एक कदम है, जिसके लिये हमारी भी यही सोच है।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here