लोकसभा चुनाव 2019: प्रियंका गांधी के सियासी ब्रह्मास्त्र के सहारे यूपी के रण में उतरी कांग्रेस

test

Publish Date: (IST)

नई दिल्ली। प्रियंका गांधी वाड्रा को सक्रिय राजनीति में उतारने का ऐलान कर कांग्रेस ने 2019 लोकसभा चुनाव 2019 के रण में अपना सबसे बड़ा सियासी ट्रंप कार्ड चल दिया है। कांग्रेस महासचिव के रूप में सियासत में उतरीं प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तरप्रदेश का प्रभारी बनाया गया है। सूबे में अगड़ी जातियों विशेषकर ब्राह्मणों को साधने की रणनीति के तहत कांग्रेस ने प्रियंका पर यह दांव लगाया है। प्रियंका को पूर्वी उत्तरप्रदेश की कमान सौंप कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सीधे सियासी चुनौती देने का साफ संदेश दिया है। प्रियंका को सियासी मैदान में उतारे जाने को कांग्रेस के फ्रंट फूट पर खेलने की रणनीति बता राहुल गांधी ने पार्टी के इन इरादों को जाहिर भी कर दिया। प्रियंका के अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी पहली बार कांग्रेस महासचिव बनाते हुए उन्हें पश्चिमी उत्तरप्रदेश का प्रभारी बनाया गया है। इन दोनों युवा चेहरों को सियासी रण में उतारकर कांग्रेस ने केवल भाजपा ही नहीं सपा-बसपा के मजबूत माने जा रहे गठबंधन की भी राजनीतिक चुनौती बढ़ा दी है।

POLL
For these reasons BJP looted in Rajasthan, Madhya Pradesh and Chhattisgarh