डिजिटल साक्षरता को समाहित करने के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए जीआईआईएस ने की एडोब के साथ साझेदारी

रिपोर्टर

Publish Date: (IST)

संवाददाता (नोएडा) देश के 7 शहरों में मौजूद एक प्रमुख शैक्षणिक संस्थान ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल ने शिक्षकों और छात्रों को डिजिटल अभ्यास प्लान्स और प्रोजेक्ट्स की रचनात्मक डिजाइनिंग में मदद करने वाले स्टोरीटेलिंग क्लाउड प्लेटफॉर्म एडोब स्पार्क के उपयोग के साथ कौशल विकास की दिशा में प्रयास किया है। इस प्रोजेक्ट को आज ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल, इंडिया के डायरेक्टर - ऑपरेशन्स राजीव बंसल और एडोब के प्रतिनिधियों - कुलमीत बावा, वीपी और एमडी, भारत और दक्षिण एशिया और जिम मैककेरी, प्रेसीडेंट, एपीएसी की उपस्थिति में प्रस्तुत किया गया।
एडोब ने भारत में कक्षाओं में रचनात्मकता को समाहित करने के लिए अपना प्रमुख कार्यक्रम ‘एडोब डिजिटल दिशा‘ लॉन्च किया है। विद्यार्थियों को भविष्य के लिए तैयार करने के लिहाज से उनमें रचनात्मकता को बढ़ावा देने की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए जीआईआईएस और एडोब की साझेदारी ने दुनिया भर में छात्रों और शिक्षकों के लिए संभावनाओं की एक नई श्रृंखला खोली है। 

इस अवसर पर ग्लोबल स्कूल फाउंडेशन के को-फाउंडर और एक्जीक्यूटिव चेयरमैन अतुल तेमूरनिकर ने कहा, ‘‘जीआईआईएस का मानना है कि विद्यार्थियों को आने वाले कल के लिए तैयार करने के लिहाज से उन्हें इक्कीसवीं सदी के कौशल से लैस करना बहुत आवश्यक है। एडोब स्पार्क के कार्यान्वयन ने इस उद्देश्य को प्राप्त करना आसान बना दिया है और यह सुनिश्चित किया है कि कक्षाओं में शिक्षक और छात्र डिजिटलीकरण के साथ रचनात्मक सोच को समाहित कर रहे हैं। यह हमारे लिए गर्व का पल है, क्योंकि हम एडोब स्पार्क द्वारा बनाई गई सफलतापूर्वक कार्यान्वित परियोजनाओं को प्रदर्शित करते हैं और इस तरह हम कौशल विकास की ओर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं, जो कि मौजूदा दौर की जरूरत भी है।”
इस साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए,कुलमीत बावा, वीपी और एमडी, भारत और दक्षिण एशिया ने कहा “एडोब में हम रचनात्मकता और नवाचार को प्रोत्साहित करते हैं। आज कोई भी सामग्री जो ऑनलाइन या ऑफलाइन बनाई जाती है, उसे एडोब स्पार्क का उपयोग करके ही बनाया जाता है। और इसी तरह डिजिटल प्लेटफॉर्म पर बनाई गई किसी भी सामग्री के पीछे एडोब ही है। हम रचनात्मकता और डिजिटलकरण को बढ़ावा देने में विश्व में अग्रणी हैं। ‘‘
प्रदर्शन सत्र के दौरान, शिक्षकों ने एडोब स्पार्क का उपयोग करके बनाई गई डिजिटल कोर्सवेयर और ई-पुस्तकों को प्रस्तुत किया। छात्रों ने एक डिजिटल प्रारूप में सतत विकास लक्ष्यों के आधार पर एक अनूठे प्रोजेक्ट का प्रदर्शन किया। 

POLL
For these reasons BJP looted in Rajasthan, Madhya Pradesh and Chhattisgarh