गाडगे जी ने समाज में फैली बुराइयों को दूर करने को जीवन भर संघर्ष किया : उपेन्द्र पाल

Reporter

Publish Date: (IST)


संत गाडगे जयंती पर महानगर में धूमधाम से निकाली गई शोभायात्रा
रामलीला मैदान में जनपद से उमड़ी भीड़, गाडगे जी की प्रतिमा पर चढ़ाए श्रद्धा के पुष्प

शाहजहांपुर। स्वच्छ भारत मिशन के जनक महामानव संत गाडगे महाराज जी की जयंती शनिवार को धूमधाम के साथ मनाई गई। इस अवसर पर महानगर में शोभायात्रा यात्रा निकाली गई। जिसमें संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर, महाऋषि बाल्मीकि, भारत माता, झलकारी बाई, समेत आदि तमाम झांकियां आकर्षण का केंद्र रहीं।
        महानगर के हनुमंत धाम स्थित संत गाडगे भवन से प्रारंभ हुई शोभायात्रा का शुभारम्भ समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष तनवीर खां, बसपा जिलाध्यक्ष खेमकरण लाल ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह शोभयात्रा हनुमत धाम से चलकर केरूगंज, चार खंभा, चौक, घंटाघर आदि मार्गो से होकर खिरनीबाग रामलीला मैदान पर पहुंच कर जनसभा में तब्दील हो गई। इस अवसर पर धोबी समाज के युवाओं ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वरिष्ठ सपा नेता उपेन्द्र पाल सिंह व कार्यक्रम संयोजक रामलड़ैते कनौजिया का 21 किलो की माला पहनाकर स्वागत किया। राघवेंद्र कनौजिया ने उपेन्द्र पाल सिंह को चांदी का मुकुट भेंट किया। इससे पहले सभी ने संत गाडगे महाराज जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए। कार्यक्रम में बोलते हुए वरिष्ठ सपा नेता उपेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि संत गाडगे महाराज जी महराष्ट्र में धोबी समाज में पैदा हुए थे। वह जीवन पर्यंत समाज में फैली बुराईयों को दूर करने के लिए संघर्ष करते रहे। उन्होंने बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर को अपना गुरु माना था। कहा कि समाज के लोगो को शिक्षित व जागरूक होने की जरूरत है। सभी समाज की तरह धोबी समाज के लोगो को भी आगे बढ़कर अपने अधिकारों के प्रति सजग रहना चाहिए तभी आपको भी बराबर की भागीदारी मिल सकेगी। कार्यक्रम के संयोजक रामलड़ैते कनौजिया ने कहा कि गरीब परिवार में जन्मे गाडगे जी ने अपना पूरा जीवन गरीबों, असहायों की सेवा में समर्पित कर दिया। उन्होंने अपने त्यागपूर्ण सेवा भाव से दीन दुखियों का उद्धार किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता हरदोई से आये शैलेन्द्र सम्राट की तथा संचालन अजय चौधरी ने किया।
     इस अवसर पर सदस्य जिला पंचायत रूपराम कबाड़ी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य रामलाल, श्यामलाल एड., अमर चंद जौहर, कुमुद गंगवार, अशोक कनोजिया, सुनील प्रभाकर, कुलदीप कनोजिया, सुनील कुमार, मुकेश वर्मा, प्रमोद कुमार, परशुराम कनौजिया, हरिशंकर कनौजिया, संजय कुमार, सर्वेश कनौजिया, रामदास, विपिन कनौजिया, शिवम, सर्वेश आदि बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

POLL
For these reasons BJP looted in Rajasthan, Madhya Pradesh and Chhattisgarh