पेड न्यूज पर विशेष निगरानी की जाएगी: उपायुक्त आमना तस्नीम

Reporter

Publish Date:12-03-2019 09:46:18am (IST)

यमुनानगर, 11 मार्च( तरूण शर्मा जगाधरी): दी फेस आफ इंडिया न्यूज जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त आमना तस्नीम ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा आम चुनाव की घोषणा के साथ ही जिला में तुरंत प्रभाव से आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई हैै तथा आदर्श चुनाव आचार संहिता की सख्ती से अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा आयोग की हिदायतों अनुसार 1950 हैल्पलाईन सेवा शुरू की गई है, जिस पर कोई भी नागरिक चुनाव से संबंधित जानकारी हासिल कर सकते हैं या अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा घोषित कार्यक्रमानुसार हरियाणा में 12 मई को लोकसभा चुनाव के तहत मतदान होगा, जिसके लिए 16 अप्रैल को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा तथा 23 अप्रैल तक नामांकन दर्ज करवाए जा सकेंगे। इसी प्रकार 24 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 26 अप्रैल तक नाम वापिस लिए जा सकेंगे। इसके तहत 12 मई को मतदान होगा तथा 23 मई को मतगणना के उपरांत परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों की अनुपालना में प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया पर निगरानी तथा विज्ञापन के पूर्व सत्यापन हेतू मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मोनिटरिंग कमेटी का गठन किया गया है। इस समिति द्वारा पेड न्यूज पर भी विशेष निगरानी की जाएगी। सोशल मीडिया पर भी पूर्ण निगरानी रखी जाएगी। लोकसभा चुनाव के दौरान प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया में किसी भी प्रकार के विज्ञापन को एमसीएमसी से पूर्व सत्यापन करवाना जरूरी है। उन्होंने मीडिया प्रतिनिधियों का आह्वान किया कि वे चुनाव के दौरान जिला प्रशासन का पूर्ण सहयोग करें तथा पेड न्यूज या फेक न्यूज के बारे में तुरंत जिला प्रशासन को सूचित करें। विज्ञापन या पेड न्यूज के खर्च को संबंधित उम्मीदवार के खर्च में शामिल किया जाएगा तथा पेड न्यूज छपवाने वालों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। आमना तस्नीम ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नागरिकों हेतू चुनाव से संबंधित अपनी शिकायतें दर्ज करने के लिए सीविजील एप शुरू किया गया है। कोई भी नागरिक आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की घटना का वीडियो या फोटो इस एप पर अपलोड कर अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है। शिकायत दर्ज होने पर संबंधित अथोरिटी को 100 मिनट में इस शिकायत का निवारण करना होता है। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा राजनीतिक पार्टियों को किसी भी प्रकार की अनुमति लेने हेतू ऑनलाईन सुविधा एप शुरू की गई है। यह एक सिंगल विंडो एप है। ऑनलाईन आवेदन करने पर ऑनलाईन निपटारा ही किया जाएगा।

POLL
For these reasons BJP looted in Rajasthan, Madhya Pradesh and Chhattisgarh