लाइव ब्रेकिंग न्यूज़: 

RPF NEWS :आरपीएफ सिपाही और ट्रेन गार्ड ने बचायी यात्री की जान   |  RPF NEWS :आरपीएफ सिपाही और ट्रेन गार्ड ने बचायी यात्री की जान   |  Kachhona Hardoi News : दो पक्षो में जमकर चली लाठियां, दो लोग गंभीर रूप से घायल   |  Kachhona Hardoi News : दो पक्षो में जमकर चली लाठियां, दो लोग गंभीर रूप से घायल   |  Maudhaganj Kachhouna News माधौगंज कार्यकर्ताओं के द्वारा फूल मालाओं से प्रदेश अध्यक्ष जी का भव्य स्वागत किया गया   |  Maudhaganj Kachhouna News माधौगंज कार्यकर्ताओं के द्वारा फूल मालाओं से प्रदेश अध्यक्ष जी का भव्य स्वागत किया गया   |  Hardoi News : क्रिकेट टूर्नामेंट का हुआ समापन, अंतिम मुकाबले में मुसलमानाबाद टीम ने अपने विपक्षी टीम करलवां को 10 विकेट से हरा खिताब अपने नाम किया   |  Hardoi News : क्रिकेट टूर्नामेंट का हुआ समापन, अंतिम मुकाबले में मुसलमानाबाद टीम ने अपने विपक्षी टीम करलवां को 10 विकेट से हरा खिताब अपने नाम किया   |  Film Prithviraj का नाम बदले बिना फिल्म स्क्रीनपर दिखाना नामुमकिन: दिलीप राजपूत   |  Film Prithviraj का नाम बदले बिना फिल्म स्क्रीनपर दिखाना नामुमकिन: दिलीप राजपूत
Monday, June 14, 2021

राज्य चुने

HomeSpeak Indiaहमें कहीं स्मार्टनेस ना बना दे हमारा स्मार्टफोन?

हमें कहीं स्मार्टनेस ना बना दे हमारा स्मार्टफोन?

Category:

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

हमें कहीं स्मार्टनेस ना बना दे हमारा स्मार्टफोन?

 साथियों आज इस लेख में मैं आपका ध्यान इस स्मार्टफोन की तरफ खींच रहा हूं यह जितना ही स्मार्ट है उतना ही कहीं हमें स्मार्टनेस ना बना दे। यह आज बड़ी चिंता का विषय है।
आज 90% जनसंख्या स्मार्टफोन पर व्यस्त रहती है।इसके किसी न किसी फीचर्स पर आपको एक्टिव मिल जाते है। आज हम वीडियो कॉल सोशल मीडिया पर इतनी व्यस्त रहते हैं कि हमारे कीमती समय को हम तेजी से बर्बाद कर रहे हैं। जब भी हम फ्री बैठते हैं तो फोन हमारे हाथ में होता है इसे हम 10 मिनट दूर नहीं कर सकते। यह कमजोरी कहीं ना कहीं हमारे जीवन पर दुष्प्रभाव डाल रही है।
  यह हमारे जीवन में जितना उपयोगी सिद्ध हुआ है उससे ज्यादा कहीं नुकसानदायक भी।
इसका सबसे ज्यादा विपरीत प्रभाव युवाओं पर पड़ रहा है। आज हर युवा इसका धड़ल्ले से उपयोग कर रहा है।
एवं की फोन पर व्यस्त था उनके कैरियर पर प्रहार करती है। स्मार्टफोन के हमारे जीवन के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।
  यह हमारे कीमती समय को बर्बाद करता है। जब भी हमारे साथ होता है तो हमें केरियर की चिंता नहीं रहती है। जब युवाओं को नौकरी जॉब या कोई काम तलाशने का समय होता है ।वह स्मार्ट फोन पर बिजी रहता है यह हमें कहीं ना कहीं खोखला कर रहा है। युवाओं की स्मार्टफोन  पर अतिव्यस्ता  किसी देश के विकास के लिए घातक सिद्ध होती है।
 कई बार हम इसके माध्यम से अफवाहों के शिकार हो जाते हैं और हम उस विषय के प्रति गलत धारणा विकसित कर लेते हैं ।यह कहीं ना कहीं हमें भावनात्मक रूप से कमजोर करता है किसी भी प्रकार की गलत सूचना चंद सेकंड में वायरल हो जाती है और उससे हमारे देश समाज को कहीं ना कहीं नुकसान ही होता है।
 तीसरा इसका सबसे बड़ा दुष्प्रभाव यह है कि यह हमें शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर करता है।यह हमारे अंदर अवसाद और चिड़चिड़ापन पैदा करता है। जब हम इसको चलाने में बिजी होते हैं तब यदि हमें कोई डिस्टर्ब करें तो निश्चित रूप से हम गुस्सा होते हैं। हम अपने घर में अपने परिवार वालों के साथ रहते हुए भी उनके साथ नहीं रहते हैं क्योंकि हम अपने स्मार्टफोन पर बिजी रहते हैं। हम किसी की समस्याओं को सुनने में बिल्कुल भी रुचि नहीं दिखाते हैं और किसी के कार्य करने के प्रति भी हम उत्साहित नहीं होते हैं।
 स्मार्टफोन के लगातार उपयोग से हमारे अंदर सहनशक्ति और मनोबल का क्षय हो रहा है। जिन खेलों को आए हम खेल के मैदान में खेलते थे आज कम उम्र के बच्चे उन खेलों को मोबाइल पर ही खेल कर खुश होते हैं। बच्चों का लगातार स्मार्ट फोन पर बिजी रहना यही भी एक चिंता का विषय है इसे हमें दूर करना होगा।
  जब हम देर रात तक मोबाइल पर बिजी होते हैं तो सुबह हम लेट तक उठते हैं और हमारे अंदर आलस्य  बना रहता है। हम अपने ऑफिस मैं या अपने काम पर उस रुचि से नहीं रहते हैं जिस रुचि से रहना चाहिए सिर्फ आमाल सीपन से उस काम को करते हैं और वह काम सही नहीं होता है।
  आज स्मार्टफोन से कहीं ना कहीं अपराधों को भी बढ़ावा मिला है ।आज इसके माध्यम से हम किसी प्रतिष्ठित पीके किसी बात को वायरल करना या अन्य बहुत से ऐसे कृत्य हैं। जो अपराध को बढ़ावा देते हैं और इसके माध्यम से किया जाता है। इसको हम साइबर क्राइम की श्रेणी में लेते हैं स्मार्टफोन का उपयोग करने के लिए हमें उतना ही स्मार्ट होना पड़ेगा और हमें बहुत सी सावधानी रखनी पड़ेगी तब हम इसका सही उपयोग कर सकते हैं।
  मेरा मानना तो यह है यदि हमें अपना सुखद भविष्य चाहिए तो इस से दूरी बनानी होगी। इसका उपयोग उतना ही करना होगा, जितना हमें आवश्यक हो। यदि अगर हमने इसका उपयोग सही तरीके से नहीं किया तो निश्चित ही यह हमारे जीवन में कहीं ना कहीं दुष्प्रभाव डालेगा इसलिए हमेशा सावधानी रखनी होगी।
- Advertisement -
- Advertisement -

ट्रेंडिंग न्यूज़:

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here