लाइव ब्रेकिंग न्यूज़: 

Neemuch news  ग्राम पंचायत दारू में टीकाकरण को लेकर युवाओं में दिखा उत्साह 110 लोगो ने लगवाया टीका   |  Neemuch news  ग्राम पंचायत दारू में टीकाकरण को लेकर युवाओं में दिखा उत्साह 110 लोगो ने लगवाया टीका   |  पुलिस ने दो शातिर चोरों को चोरी के सामान के साथ किया गिरफ्तार   |  पुलिस ने दो शातिर चोरों को चोरी के सामान के साथ किया गिरफ्तार   |  के.एल. डीम्ड यूनिवर्सिटी के उद्यमी छात्रों ने वायरलेस चार्जिंग वाली अपनी तरह की पहली ई-बाइक तैयार की   |  बुक माय शो ने सामुदायिक टीकाकरण अभियान के पहले चरण के तहत भारत में 1,45,000 लोगों तक पहुंचाई वैक्सीन   |  महिला ऐच्छिक ब्यूरो द्वारा 1 जोड़े को मिलाया गया   |  महिला ऐच्छिक ब्यूरो द्वारा 1 जोड़े को मिलाया गया   |  अभियोग अज्ञात अभियुक्त के विरूद्ध पंजीकृत कर विवेचना की जा रही है   |  अभियोग अज्ञात अभियुक्त के विरूद्ध पंजीकृत कर विवेचना की जा रही है
Thursday, June 24, 2021
HomeState99 हज़ार बच्चें कोरोना पॉजिटिव!

99 हज़ार बच्चें कोरोना पॉजिटिव!

Category:

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

2 महीने में 99 हज़ार बच्चें कोरोना पॉजिटिव

3 गुना बढ़े महामारी के मामले

अंजली माली
महाराष्ट्र मुंबई : १ जून २०२१

कोरोना की तीसरी लहर कब आएगी और इसका बच्चों पर क्या प्रभाव पड़ेगा, इसको लेकर अभी चिंता जारी ही है कि कोरोना की दूसरी लहर ही बच्चों पर भारी पढ़ रही हैं।
महाराष्ट्र में 60 दिनों में 10 वर्ष तक के 99,006 बच्चें पॉजिटिव पाए गए है। जबकि जनवरी से अब तक 1,28,827 बच्चे पॉजिटिव पाए गए है। देखा जाए तो अप्रैल मई में बच्चों के संक्रमण में 332% की मात्रा बढ़ गई हैं। बच्चों की हालत कोरोना की दूसरी लहर के ही ज्यादा गंभीर हो गई है। अहमदनगर में ही करीब 10 हज़ार बच्चें कोरोना संक्रमण के चपेट में आए हैं, मुंबई में मई में 9 साल तक के 9 बच्चों की मौत हुई हैं।
4 साल का एक मासूम 7 दिनों से वेंटिलेटर पर है, एंटीबॉडी पॉजिटिव है, डॉक्टरों का कहना हैं कि 3 दिनों में बच्चे की हालत इतनी ज्यादा खराब होना हैरानी की बात है बच्चे की हालत बहुत ही नाजुक है, स्पर्श चिल्ड्रन हॉस्पिटल के डॉक्टरों की टीम बच्चे को बचाने के अभियान में लगी हैं।

- Advertisement -

99 हज़ार बच्चें कोरोना पॉजिटिव!
अप्रैल में 51,648 और मई में 47,358 बच्चें संक्रमित पाए गए हैं। मई में 4 साल से कम उम्र वाले 10,494 बच्चें पॉजिटिव मिले, जबकि बीते साल की पहली कोरोना लहर में कुल 67110 बच्चे संक्रमित हुए थे। परंतु इस वर्ष में सिर्फ 5 महीनों में ही 1,28,827 बच्चें पॉजिटिव हो चुके हैं। जो पिछले साल से करीब 2 गुना हैं।
फोर्टिस अस्पताल में सीनियर कंसल्टेंट और पेडियाट्रीशियन डॉ जेसल सेठ ने कहा 2020 और 2021की तुलना करें तो इस साल बच्चों में गंभीर वाले लक्षण और दिक्कतें दिख रहीं हैं। निमोनिया हुआ है तो न सिर्फ अस्पताल में भर्ती करना पड़ रहा है बल्कि उनको आईसीयू मॉनिटरिंग की भी जरूरत पड़ रही है। किसी को फेफड़ों में दिक्कत हुई तो किसी के गले में बड़ी बड़ी गांठ हो गई है,किसी को हार्ट पे असर हुआ हैं।
मई में 9,928 संख्या रही लेकिन करीब 95% कम या ना के बराबर लक्षण वाले बताए जा रहें है जिनका घर पे ही इलाज किया जा रहा हैं। लेकिन अस्पताल और आईसीयू वेंटिलेटर की जरूरत वाले बच्चों की संख्या इस बार बढ़ गई है एक्सपर्ट बच्चों के लिए फ्लू के इंजेक्शन की सलाह दे रहे है ताकि बदलते मौसम में कोरोना के लक्षण उलझन में ना डाले।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here