राज्य चुने

HomeStateMadhya PradeshBhopal news मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया कला पंचांग का लोकार्पण

Bhopal news मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया कला पंचांग का लोकार्पण

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

*संवाददाता राकेश शर्मा मनासा (मध्यप्रदेश)*
भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संस्कृति विभाग द्वारा प्रकाशित कला पंचांग का दिनांक 30 जून बुधवार को निवास पर लोकार्पण किया। पर्यटन, संस्कृति एवं अध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर और प्रमुख सचिव संस्कृति तथा जनसंपर्क शिव शेखर शुक्ला भी इस अवसर पर उपस्थित थे। मंत्री उषा ठाकुर ने मुख्यमंत्री चौहान को ‘बुंदेलखंड के भित्ति चित्र’ नामक पुस्तक भेंट की। प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला ने जानकारी दी कि कला पंचांग में संस्कृति तथा पर्यटन विभाग द्वारा वर्ष के आगामी माहों में संचालित की जाने वाली सभी गतिविधियों को जोड़ा गया है। पंचाग में अप्रैल 2021 से मार्च 2022 तक की गतिविधियों का उल्लेख है।उल्लेखनीय है कि संस्कृति विभाग सम्पूर्ण प्रदेश में कला और उसके स्वरूपों पर केन्द्रित समारोह, प्रदर्शनी, प्रशिक्षण शिविर, पुरस्कार, परिसंवाद, संगोष्ठी, व्याख्यान, कविता, कहानी, फिल्म, नाटक, साहित्य पठन- पाठन आदि गतिविधियाँ आयोजित करता है। विभाग द्वारा वर्ष में आयोजित ऐसी समस्त गतिविधियों की जानकारी समय पूर्व देने के उद्देश्य से कला पंचांग प्रकाशित किया जाता है। यह प्रयास कला रसिकों, अध्येताओं, विशेषज्ञों, प्रशिक्षुओं, कलाकारों, पत्रकारों, आलोचकों, गणमान्य नागरिकों और इन गतिविधियों में रूचि रखने वालों की सुविधा के लिए है। यह दो से ढाई दशक पुरानी परम्परा है। पूरे वर्ष में अलग- अलग अकादमियाँ और संचालनालय जो गतिविधियाँ करती हैं उनका योग लगभग 1500 से 2000 के मध्य होता है। विभाग द्वारा लगभग 30 नई गतिविधियाँ शामिल की गई हैं।आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत की जाने वाले गतिविधियों को भी इसमें सम्मिलित किया गया है। कला पंचांग का प्रकाशन इस आशा के साथ किया गया है कि देश कोरोना महामारी के संकट से मुक्त होगा और सांस्कृतिक गतिविधियाँ पूर्ववत आयोजित हो सकेंगी। यदि गतिविधियों को भौतिक रूप से आयोजित नहीं किया जा सकेगा तो कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित करने के प्रयास होंगे। वर्ष 2021- 22 के कला पंचांग में मध्यप्रदेश की जनजातियों के प्रकृति से लगाव के चित्रण को प्रकाशित किया गया है। पंचांग के कवर पेज पर कलाबाई श्याम द्वारा करमा नृत्य पर बनाई गई पेंटिंग है। इसके साथ ही भूरी बाई, ननकू सिया श्याम, लाडो बाई, दुर्गाबाई, नर्मदा प्रसाद टेकाम और रामसिंह के चित्रण से पंचांग सुशोभित है।पंचांग के माध्यम से यह संदेश देने का प्रयास किया गया है कि हम अपने आस- पास प्रकृति को पुर्नस्थापित करने का प्रयास करें।

- Advertisement -

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here