राज्य चुने

HomeStateअपर जनपद न्यायाधीश, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण...

अपर जनपद न्यायाधीश, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया ने राजकीय बाल गृह देवरिया तथा पाथ वात्सल्य खुला आश्रय गृह का किया औचक निरीक्षण

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

देवरिया। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया द्वारा राजकीय बाल गृह देवरिया तथा पाथ वात्सल्य खुला आश्रय गृह में वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव हेतु उनके खान-पान, रहन-सहन तथा साफ-सफाई का औचक निरीक्षण किया गया। अपर जनपद न्यायाधीश रजनीश कुमार ने कहा कि इस समय बच्चों के उनके इम्यूनिटी पाॅवर पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत हैं जिसके लिये समय-समय पर उचित खान-पान की व्यवस्था की जायें। उन्होंने राजकीय बाल गृह देवरिया के अधीक्षक श्री यशोदानंद तिवारी को निर्देश दिया कि इस वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान बच्चों को नियमित व्यायाम कराये जायें जिससे कि उनके अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहें।

- Advertisement -

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सूर्यकान्त धर दूबे ने राजकीय बाल गृह देवरिया में बच्चों के सोने हेतु उनके विश्रामालय, उन्होंने बच्चों के भोजन हेतु उनके खाद्य सूची का निरीक्षण करते हुये पौष्टिक आहार रखने का निर्देश दिया। समय-समय पर ताजे फलों तथा बच्चों को साफ-सुथरे कपड़े व साफ-सफाई पर विशेष दिशा-निर्देश दिये। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश आरिफ निसामुद्दीन खान ने कहा कि इस महामारी के दौरान बच्चों के स्वास्थ्य के लिए उनकी नियमित जाॅच किये जाने की आवश्यकता हैं, क्योंकि इस समय बढ़ते कोरोना वायरस के दौरान सबकों सतर्क रहने की जरूरत हैं। उनको इस वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव हेतु उनको सोशल डिस्टेंसिंग का भरपूर पालन कराया जायें। उन्होने कहा कि बच्चों को मुॅह पर बाॅधने हेतु रूमाल, तौलिये या मास्क का हमेशा उपयोग करायें, भोजन करने से पहले खुद को सेनेटाईज कर लें तथा समय-समय पर अपने हाथों को साबुन से धोये। उन्होंने बताया कि राजकीय बाल गृह देवरिया में निरीक्षण के दौरान 28 बच्चों की उपस्थिति रहीं तथा पाथ वात्सल्य में 16 बच्चों की उपस्थिति रहीं। इस निरीक्षण में मुख्य रूप से अपर जनपद न्यायाधीश रजनीश कुमार, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सूर्यकान्त धर दूबे, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण न्यायाधीश आरिफ निसामुद्दीन खान, न्यायिक मजिस्ट्रेट स्वर्णमाला सिंह तथा बाल कल्याण अधिकारी जयप्रकाश तिवारी, राजकीय बाल गृह देवरिया के अधीक्षक यशोदानंद तिवारी उपस्थित रहें।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here