राज्य चुने

HomeStateMaharashtraशेगांव की तरह ही 'आनंद सागर' की कॉपी पंढरपुर में होना चाहिए

शेगांव की तरह ही ‘आनंद सागर’ की कॉपी पंढरपुर में होना चाहिए

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

पार्क के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत करने के लिए डॉ.नीलमताई गोरे के प्रशासन को निर्देश

- Advertisement -

रिपोर्ट : के . रवि ( दादा ),

महाराष्ट्र के शेगांव के तीर्थ क्षेत्र में ‘आनंद सागर’ जैसा भव्य पार्क पंढरपुर में होना चाहिए. डॉ. नीलमताई गोरेने पंढरपुर नगर परिषद के प्रमुख को यह निर्देश दिए. पंढरपुर शहर में विकास कार्यों और श्री विट्ठल मंदिर के लंबित कार्यों की समीक्षा के लिए डॉ. नीलमताई गोरे ने आज ऑनलाइन बैठक की. बैठक में प्रांताधिकारी सचिन ढोले, मंदिर समिति के कार्यकारी अधिकारी विट्ठल जोशी, मुख्य अधिकारी अरविंद माली और पत्रकार सुनील उमरे ने भाग लिया.

पंढरपुर महाराष्ट्र का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है. हर साल लाखों श्रद्धालु श्री विट्ठल के दर्शन करने आते हैं.दर्शन के बाद एक क्षण के लिए विश्राम करने के लिए भक्तो के लिए सुखद, विस्तृत और शांत स्थान होना चाहिए. आनंद सागर शेगांव में एक खूबसूरत पार्क है. डॉ. निलमताई गोरे ने निर्देश दिए कि पंढरपुर में भी ऐसा पार्क होना चाहिए और नगर परिषद ऐसे पार्क के लिए तत्काल प्रस्ताव पेश करे. बैठक में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पास लंबित मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई . श्री जोशी मंदिर से संबंधित भगवान विट्ठल की मूर्ति के संरक्षण, रुके हुए स्काईवॉक, पारिवारिक देवता और मंदिर में हो रहे मरम्मत कार्य की जानकारी दी. श्री. जोशी ने लॉकडाउन से पहले आयोजित भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की विशेष बैठक के लिए डॉ.नीलमताई गोरे को धन्यवाद दिया.

- Advertisement -

की तरह ही आनंद सागर की कॉपी पंढरपुर में होना चाहिए 2
डॉ. नीलमताई गोरे ने मंदिर के रुके हुए कार्यों की प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि शेष कार्यों को लेकर पुरातत्व विभाग की बैठक जल्द बुलाई जाएगी. प्रान्ताधिकारी सचिन ढोले ने पालकी मार्ग पर सड़कों का मुद्दा उठाया . देहु-आलंदी से वाखरी पालकी मार्ग पर कार्य प्रगति पर है लेकिन वाखरी से पंढरपुर मार्ग पर निर्णय लंबित है . वाखरी से सरगम चौक और सरगम चौक से अर्बन बैंक फ्लाईओवर होने पर यह कार्य तत्काल किया जाए इस कार्य से बरसात के दिनों में जाम की समस्या से निजात मिलेगी . सचिन ढोले को निर्देश दिया गया कि वे नामदा. गडकरी के साथ अनुवर्ती कार्रवाई करें और कार्य को स्वीकृत कराएं और धनराशि उपलब्ध कराएं. इस पर डॉ. नीलमताई गोरे ने नितिन गडकरी के साथ शीघ्र ही बैठक कर कार्य को आगे बढ़ाने का वादा किया. पंढरपुर नगर परिषद के मुख्य अधिकारी अरविंद माली ने स्पष्ट किया कि चंद्रभागा नदी में बहने वाले नालों के पानी को रोक दिया गया है. परिक्रमा मार्ग की कंक्रीटिंग, नामकरण कार्य के लिए धन की उपलब्धता, परिक्रमा मार्ग आदि प्रस्तुत किए गए .

शेगांव की तरह ही 'आनंद सागर' की कॉपी पंढरपुर में होना चाहिए
इस पर डॉ. नीलम गोरे ने मुख्यधिकारी को विस्तृत रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए. पत्रकार श्री उंबरे ने डॉ. नीलमताई गोरे का ध्यान परिक्रमा मार्ग की कंक्रीटिंग, सफाई कर्मचारियों के घरों के लंबित मुद्दे, दर्शन रेंज के आंशिक स्काईवॉक, सार्वजनिक शौचालय, चंद्रभागा नदी तट पर बने अवर घाट, शहर में गड्ढों वाली सड़कों की ओर आकर्षित किया.
उपरोक्त सभी मुद्दों पर व्यापक चर्चा के बाद डॉ. नीलमताई गोरे ने कहा कि वह जुलाई के दूसरे सप्ताह में पंढरपुर का दौरा करेंगे. वे इस समय चर्चा किए गए कार्यों की समीक्षा और निरीक्षण करेंगे .

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here