राज्य चुने

HomeStateMadhya PradeshMadhya Pradesh News देखना है कि प्रशासन किससे जनता या नेता से...

Madhya Pradesh News देखना है कि प्रशासन किससे जनता या नेता से कितना करा पाता है, कोरोना नियमो का पालन

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

संवाददाता राकेश शर्मा के साथ शिवरमन सिंह पंवार

- Advertisement -

मध्यप्रदेश। आने वाले 2 या 3 दिन जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के लिए परीक्षा के दिनों जैसा है। क्योकि दिनांक 4 व 5 जुलाई को प्रदेश की राजनीति मे तुफान लाने वाले सिधिंया मंदसौर एवं उनके समर्थक रहे प्रदेश के मंत्री तुलसी सिलावट नीमच जिले के दौरे पर है। और जिला कलेक्टर व जिला मजिस्ट्रेट ने कोरोना से बचाव के लिए धारा 144 दंण्ड प्रक्रिया के तहत दिनांक 3 जुलाई 2021 को आदेश पारित किया है जिसकी पहली कंडिका मे ही स्पष्ट है कि समस्त प्रकार के सामाजिक, राजनीति, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक आयोजन, मेले आदि मे जनसमूह का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा।इसके बावजुद विगत 15 से 20 दिनो से आशा ऊषा (महिलाओं ) कार्यकर्ताओं का धरना गांधी चोराहा मंदसौर मे चल रहा है। इस प्रकार उक्त आदेश के बाद अब धरना दे रहे संगठन का धरना आदेश का सरासर उल्लंघन है जो प्रशासन व पुलिस प्रशासन के संज्ञान मे है। यदि संविधान व कानुन की दृष्टि से देखे तो किसी कानुनी आदेश का उल्लंघन करना व कानून के उल्लंघन से होने वाले अपराध का संज्ञान होने के बाद भी उल्लंघन करने वालो के खिलाफ कार्यवाही न करना भी अपराध की श्रेणी मे आता है याने अवैध धरना प्रदर्शन का संज्ञान के बावजूद प्रकरण दर्ज न करने से जिला व पुलिस प्रशासन अपराधी हो जाता है। कल दिनांक 5 जुलाई 2021 को ही इंटक नेताओं के नेतृत्व मे चंबल से मंदसौर की पेयजल आपुर्ति की विफलता के लिए कलेक्टर भवन पर जुलुस के रुप मे जाकर ज्ञापन दिया जाना है। जिला व पुलिस प्रशासन पर कल सबकी निगाह यू भी रहेगी कि 3 जुलाई 2021 शुक्रवार को शराब ठेकेदार के साथ दलोदा मे हुई घटना के विरोध मे ज्ञापन देने पहुंचे लोगों के विरुद्ध तो गाईड लाईन उल्लंघन का प्रकरण थाना वाय. डी. नगर मंदसोर ने दर्ज कर तो लिया है। अब कल सिंधिया व भाजपा भी भीड़ एकत्रित करेंगे ही और इंटक के ज्ञापन मे भी भीड़ आना ही है। अब देखना है कि प्रशासन व पुलिस प्रशासन कानुन की लाज रखता है या नेताओं की।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here