राज्य चुने

HomeStateMaharashtraअब बीजेपी में बदलाव की तैयारी!

अब बीजेपी में बदलाव की तैयारी!

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

अंजली माली | महाराष्ट्र मुंबई : 13 जुलाई 2021

- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में अपनी कैबिनेट का बड़ा विस्तार किया था। इस कैबिनेट विस्तार में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव, उपाध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी और विश्वेश्वर तुडु को भी मंत्रिमंडल में जगह दी गई। इन नेताओं के केंद्र में मंत्री बनने के साथ ही यह साफ हो गया कि सरकार के बाद अब बीजेपी संगठन में भी बड़े बदलाव होंगे। विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी नेतृत्व राज्य में संगठन को गति देने के लिए कई बदलाव कर रहा है।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि मोदी सरकार के कैबिनेट विस्तार के कारण संगठन में खाली हुए पद जल्दी ही भरे जाएंगे। इन्हें लेकर केंद्रीय नेतृत्व जल्द ही फैसला करेगा और रिक्त पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी। सूत्रों की मानें तो पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष को भी पद से हटाया जा सकता है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की जगह किसी दूसरे नेता को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चा है। नया प्रदेश अध्यक्ष उस नेता को बनाया जाएगा जो शुभेंदु अधिकारी के साथ मिलकर प्रदेश संगठन को मजबूत कर सके। पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में भी 2024 के लोकसभा चुनाव का ध्यान रखते हुए राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाले दो मंत्रियों को हटाकर चार नए नेताओं को मंत्री बनाया गया। बीजेपी संगठन के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी पश्चिम बंगाल में काफी बदलाव किए हैं। बीजेपी की राष्ट्रीय सचिव और महाराष्ट्र की पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे ने शीर्ष नेतृत्व से मौजूदा मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अपनी नाराजगी जताई है। पंकजा मुंडे की बहन प्रीतम मुंडे का नाम भी मंत्री बनने के लिए चर्चा में था लेकिन उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया। इसके अलावा उनके क्षेत्र से ऐसे व्यक्ति को मंत्री बनाया गया है जिसे उनका विरोधी माना जाता है। इस कैबिनेट विस्तार में जिन मंत्रियों की कैबिनेट से छुट्टी हुई है, पार्टी नेतृत्व उनमें से कुछ नेताओ को संगठन में जिम्मेदारी दे सकता है। प्रदेशों में कुछ बड़े नेता जो किसी न किसी कारण से नाराज चल रहे हैं, उन्हें भी केंद्रीय संगठन में जगह देकर या बड़ी जिम्मेदारी देकर मनाने की कोशिश की जाएगी। दिलीप घोष को भी केंद्रीय संगठन में जिम्मेदारी मिल सकती हैं। सूत्रों की मानें तो बीजेपी अगले साल होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले अपने नेताओ की नाराजगी दूर करने की कोशिश में है जिससे इसका नुकसान चुनाव में न उठाना पड़े।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here