राज्य चुने

HomeStateMaharashtraमोदी-फडणवीस हैं ओबीसी के राजनीतिक आरक्षण के हत्यारे: चंद्रकांत हंडोरे

मोदी-फडणवीस हैं ओबीसी के राजनीतिक आरक्षण के हत्यारे: चंद्रकांत हंडोरे

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

भाजपा के ‘जेल-व्यापी आंदोलन’ का अर्थ है ‘चोर की उल्टी बोंब

- Advertisement -

ओबीसी के अधिकारों के लिए कांग्रेस का राज्यव्यापी आंदोलन

रिपोर्ट : के . रवि ( दादा ) ,,

मुंबई : महाराष्ट्र राज्य में तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सरकार और केंद्र की मोदी सरकार सुप्रीम कोर्ट में ओबीसी समुदाय के राजनीतिक आरक्षण को रद्द करने के लिए जिम्मेदार हैं . जब सुप्रीम कोर्ट ने आरक्षण के लिए जरूरी आंकड़े मांगे तो केंद्र ने नहीं दिए . मुंबई कांग्रेस के पूर्व मंत्री चंद्रकांत हंडोरे, जो वर्तमान में महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं, ने आरोप लगाया है कि ओबीसी का राजनीतिक आरक्षण रद्द कर दिया गया क्योंकि भाजपा सरकार ने जानबूझकर केंद्र और राज्य में अदालत को आंकड़े उपलब्ध नहीं कराए .
चंद्रकांत हंडोरे के नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस ने मंत्रालय के सामने महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना देकर मोदी सरकार का विरोध किया. प्रदेश महासचिव एवं प्रवक्ता राजेश शर्मा, प्रदेश महासचिव राजन भोसले, महासचिव प्रा. प्रकाश सोनवणे, नगरसेवक संगीता हंडोरे, राजेश सोनवणे, शशिकांत बनसोडे, लक्ष्मण कोठारी सहित कार्यकर्ता मौजूद रहे.
इस अवसर पर बोलते हुए चंद्रकांत हंडोरे ने कहा कि भाजपा और आरएसएस आरक्षण विरोधी हैं .
उनकी अपनी गैरजिम्मेदारी के कारण ओबीसी का आरक्षण रद्द कर दिया गया हैं . राजनीतिक आरक्षण रद्द होने से स्थानीय निकाय चुनाव में ओबीसी को करीब 55,000 से 56,000 सीटों पर पानी छोड़ना होगा.
भाजपा ने ओबीसी समुदाय में नेतृत्व खत्म करने का पाप किया है . यह हास्यास्पद है कि भाजपा का दावा है कि अगर उसने पांच साल सत्ता में रहने के बाद चार महीने में ओबीसी आरक्षण बहाल कर दिया . भाजपा द्वारा ओबीसी समुदाय को गलत सूचना देकर गुमराह किया जा रहा है . अगर भाजपा को ओबीसी समुदाय के लिए दया आती तो यह समय नहीं आने दिया जाता . यह ढोंग करने का एक तरीका है कि हम केवल इसलिए आंदोलन कर ओबीसी समुदाय के कल्याण के लिए चिंतित हैं क्योंकि भाजपा की साजिश का पर्दाफाश हो गया है . लेकिन कांग्रेस का संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक ओबीसी का राजनीतिक आरक्षण बहाल नहीं हो जाता.
ओबीसी के राजनीतिक आरक्षण को रद्द करने के खिलाफ महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस द्वारा राज्यव्यापी आंदोलन को भारी प्रतिक्रिया मिली . लोक निर्माण मंत्री और संरक्षक मंत्री अशोकरावजी चव्हाण के नेतृत्व में नांदेड़ में भी एक आंदोलन का आयोजन किया गया थ . पुणे में प्रदेश उपाध्यक्ष मोहन जोशी के नेतृत्व में पूर्व राज्यमंत्री रमेश बागवे, जबकि धुले में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष ए. कुणाल पाटिल के नेतृत्व में , सांगली में नगर अध्यक्ष पृथ्वीराज पाटिल के नेतृत्व में एक आंदोलन का आयोजन किया गया . औरंगाबाद, अहमदनगर, कोल्हापुर, नाशिक, सोलापुर, अकोला, चंद्रपुर, अमरावती और नवी मुंबई समेत राज्य के सभी जिलों में भाजपा सरकार का जोरदार विरोध हुआ .
वैसे चंद्रकांत हंडोरे जी महाराष्ट्र के जमीनी कार्यकर्ता है वे किसी ना किसी सामाजिक विषयों का उजागर करते रहते है .

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here