लाइव ब्रेकिंग न्यूज़: 

Neemuch news  ग्राम पंचायत दारू में टीकाकरण को लेकर युवाओं में दिखा उत्साह 110 लोगो ने लगवाया टीका   |  Neemuch news  ग्राम पंचायत दारू में टीकाकरण को लेकर युवाओं में दिखा उत्साह 110 लोगो ने लगवाया टीका   |  पुलिस ने दो शातिर चोरों को चोरी के सामान के साथ किया गिरफ्तार   |  पुलिस ने दो शातिर चोरों को चोरी के सामान के साथ किया गिरफ्तार   |  के.एल. डीम्ड यूनिवर्सिटी के उद्यमी छात्रों ने वायरलेस चार्जिंग वाली अपनी तरह की पहली ई-बाइक तैयार की   |  बुक माय शो ने सामुदायिक टीकाकरण अभियान के पहले चरण के तहत भारत में 1,45,000 लोगों तक पहुंचाई वैक्सीन   |  महिला ऐच्छिक ब्यूरो द्वारा 1 जोड़े को मिलाया गया   |  महिला ऐच्छिक ब्यूरो द्वारा 1 जोड़े को मिलाया गया   |  अभियोग अज्ञात अभियुक्त के विरूद्ध पंजीकृत कर विवेचना की जा रही है   |  अभियोग अज्ञात अभियुक्त के विरूद्ध पंजीकृत कर विवेचना की जा रही है
Thursday, June 24, 2021
HomeStateSehore news अब न पढ़ाई रुकेगी न जीवन

Sehore news अब न पढ़ाई रुकेगी न जीवन

Category:

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

Sehore news अब न पढ़ाई रुकेगी न जीवन

संवाददाता राकेश शर्मा मनासा (मध्यप्रदेश)
सीहोर। जिले के ग्राम तुरनिया के मंजू और राजकुमार अहिरवार के पिता रामगोपाल अहिरवार का 7 मई को कोरोना से निधन हो गया। एवं माँ श्रीमती नानी बाई की मृत्यु पहले ही हो चुकी थी। दोनों बच्चों को दूर तलक अपना भविष्य अंधकारमय नज़र आ रहा था। पढ़ाई का सोचना छोड़ वे जीवन- यापन के लिये काम- धंधे की तलाश करने लगे, ऐसे में मुख्यमंत्री कोविड कल्याण योजना उनके सामने गहन तिमिर में उज्जवल किरण की भांति आयी। राजकुमार ने बताया कि कोरोना से अचानक हुई पिताजी की मृत्यु ने मुझे इतना झकझोर दिया था कि मैं कुछ सोच ही नहीं पा रहा था। साथ में छोटी बहन भी है। पिताजी मेहनत- मज़दूरी करके घर चलाते थे। इसलिये घर में कोई संपत्ति या पूंजी भी नहीं थी, जिसके सहारे हम जीवन- यापन कर सकें। लगा संघर्षों का एक कठिन दौर शुरू हो गया है। ऐसे में दिनांक 4 जून शुक्रवार को महिला एवं बाल विकास अधिकारी हमारे घर आए और पूरी जानकारी ली। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री बाल कोविड कल्याण योजना के तहत हमें मदद मिलेगी। हमारे लिये यह किसी चमत्कार से कम नहीं है। ईश्वर के साथ हम सरकार के भी शुक्रगुजा़र हैं, जो उन्होंने हमारे इस भयानक संकट में इतना बड़ा आसरा दिया। अब जीवन- यापन की चिंता छोड़ हम अपनी पढ़ाई जारी रख सकेंगे।

- Advertisement -

ट्रेंडिंग न्यूज़:

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here