राज्य चुने

HomeStateरसड़ा: सड़क कीनारे शमशान का मंज़र सरकारी सिस्टम को नहीं है कोई...

रसड़ा: सड़क कीनारे शमशान का मंज़र सरकारी सिस्टम को नहीं है कोई परवाह

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

रिपोर्ट उमाकांत विश्वकर्मा

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के बलिया के रसड़ा जहाँ सड़क पर शमशान की एक लाइव तस्वीर सामने आई है। जहाँ रसड़ा कोतवाली थाना क्षेत्र के बलिया रसड़ा मार्ग के कोटवारी मोड़ से महज 500 मीटर दूरी पर सड़क के फुटपाथ पर जलती हुई लाश को देखिये बलिया लखनऊ स्टेट एनएच की यह तसवीरे है जो शमशान में तब्दील हो गई है । यह कोई पहली लाश या फिर कोरोना मरीज की लाशें नही है यह वर्षो से पुरानी परंपरा चली आ रही है। और हर दिन यहां लाशें जलाई जाती है। बलिया की यह सबसे बिजी रोड है। जहाँ सड़क से महज दो कदम की दूरी पर ही लोगो ने यह शमशान घाट बना दिया है। जहा शमशान घाट का बैनर भी लगा हुआ है। सड़क पर ऐसी तसवीरे देख मासूम बच्चे हो,या फिर राहगीर हो या फिर गुजरने वाले वाहन हो उन सब पर बड़ा असर पड़ रहा है। शव को जलाने के बाद मृतक के परिजन वहां से सब कुछ छोड़ कर चले जाते हैं वहां इधर-उधर बिखरे शव के अवशेष (हड्डियां) और तरह-तरह की गंदगी फैली हुई है।
इस लाश को देखिये स्टेट एनएच से महज 5 मीटर की दूरी भी नही है।लाश जलाने आये लोगो की माने तो सड़क किनारे लाश जलाने की यह सैकड़ो वर्ष पुरानी परंपरा है ।उनके पूर्वज भी यही लाश जलाते थे।कुछ लोग गंगा किनारे भी जाते है मगर आर्थिक स्थिति कमजोर होने के चलते लोग इसी सड़क के किनारे ही जलाते आ रहे है।
शमशान घाट पर मौजूद लोगों की माने तो सड़क के फुटपाथ पर लाश जलाना सही नही है मगर रसड़ा नगरपालिका ने कोई ऐसी व्यवस्था नही दिया है। इसी लिए वर्षों से यहां सड़क पर लाश जलानें की परंपरा काय़म है।

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here