राज्य चुने

HomeStateMaharashtraउपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कोल्हापुर जिले में कोरोना की स्थिति सहित उपायों...

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कोल्हापुर जिले में कोरोना की स्थिति सहित उपायों की समीक्षा की

लेटेस्ट न्यूज़:

विज्ञापन

कोल्हापुर जिले को ‘कोरोना मुक्त’ बनाने के लिए

- Advertisement -

प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करें -उपमुख्यमंत्री अजित पवार

रिपोर्ट : के . रवि ( दादा ) ,,

कोल्हापुर : महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने आज कहा कि कोल्हापुर जिले को ‘कोरोना मुक्त’ बनाने के लिए प्रतिबंधों का कड़ाई से कार्यान्वयन, राज्य सरकार जिले में उपायों के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए आवश्यक धनराशि प्रदान करेगी .

- Advertisement -

कलेक्ट्रेट के महारानी तारारानी हॉल में उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में आयोजित कोरोना प्रकोप नियंत्रण पर समीक्षा बैठक में वे बोल रहे थे. बैठक में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ, अभिभावक मंत्री सतेज पाटिल, स्वास्थ्य राज्य मंत्री राजेंद्र पाटिल-याड्रावरकर, राज्य योजना बोर्ड के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश क्षीरसागर, अखिल महाराष्ट्र सांविधिक विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. . योगेश जाधव, जिला परिषद अध्यक्ष बजरंग पाटिल के साथ-साथ सांसद, विधायक, पुणे संभाग Att. आयुक्त डॉ. अनिल रामोद, जिला कलेक्टर दौलत देसाई, नगर आयुक्त डॉ. कादंबरी बलकवड़े, विशेष पुलिस महानिरीक्षक मनोज लोहिया, जिला पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवाडे उपस्थित थे.

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कोल्हापुर जिले में कोरोना की स्थिति सहित उपायों की समीक्षा की

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि कोल्हापुर जिले में राज्य में सबसे ज्यादा कोरोना और मृत्यु दर है . कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सैंपल प्रोब की संख्या बढ़ाई जाए . सभी नागरिकों की जांच करें, खासकर उन गांवों में जहां अधिक कोरोना संक्रमित मरीज हैं . साथ ही संक्रमित मरीजों से संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रभावी संस्थागत आइसोलेशन करें . साथ ही यहां जरूरी सुविधाएं मुहैया कराएं . उन्होंने कहा कि जिले में निःशक्तजनों का टीकाकरण प्राथमिकता के साथ पूरा किया जाए, राज्य सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभागों के रिक्त पदों को भरने की अनुमति दी गयी है. सीपीआर, इंदिरा गांधी अस्पतालों के साथ-साथ पहाड़ी क्षेत्रों के लिए एम्बुलेंस में अत्याधुनिक सेवाएं प्रदान करने के लिए धन उपलब्ध कराया जाएगा . महात्मा फुले जन आरोग्य योजना के माध्यम से म्यूकोमाइकोसिस के मरीजों का मुफ्त इलाज किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के तहत अनुबंध के आधार पर काम करने वाले कर्मचारियों के लंबित मानदेय का भी जल्द से जल्द प्रयास किया जाएगा. नागरिकों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण अवश्य करना चाहिए . इस संबंध में राज्य सरकार द्वारा टीकाकरण के प्रयास किए जा रहे हैं .

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने आगे कहा कि कोल्हापुर जिले में बड़ी संख्या में चीनी मिलें हैं. उन्होंने कहा कि चीनी मिलों को ऑक्सीजन उत्पादन परियोजनाएं और कोविड देखभाल केंद्र स्थापित करने का प्रयास करना चाहिए, उन्होंने कहा कि विदेशों से जिले में प्रवेश करने वाले नागरिकों की जाँच करें . अस्पतालों में आग, बिजली और ऑक्सीजन का ऑडिट करना और खामियों को दूर करना . उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि जिले के निजी अस्पतालों के बिलों का ऑडिट कर अधिक दर वसूलने वाले अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. शहर समेत कुछ ग्रामीण इलाकों में लोग बिना वजह चौक चौक पर घूमते पाए जाते हैं. कोरोनरी हृदय रोग के दौरान प्रकोप तेज हो जाते हैं . उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने नागरिकों से अपील की कि वे नियमों का पालन करें और प्रशासन का सहयोग करें और बिना वजह घरों से बाहर निकलने वाले नागरिकों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करें.

जिले में कोरोना पर नियंत्रण के लिए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जन-प्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी समन्वित तरीके से उपायों को लागू करें. साथ ही अधिक मरीजों वाले क्षेत्र का निरीक्षण किया जाए . राजस्व, स्वास्थ्य, जिला परिषद, पुलिस विभाग समन्वय से काम करें . उन्होंने यह भी कहा कि बच्चों को तीसरी लहर से निपटने के लिए चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराई जाएं .

*जिले में मरीज व मृत्युदर कम करने के लिए जांच पर जोर*
_*-स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे* _
पहली नज़र में, कोल्हापुर जिले के चंदगढ़, गगनबावड़ा और शिरोल तालुका में कोरोना के मामले अधिक हैं . गढ़िंगलाज, हटकनगले, शिरोल, शाहूवाड़ी तालुकाओं में मृत्यु दर अधिक है . जिले में कोरोना मरीजों और मौतों की संख्या को कम करने के लिए स्क्रीनिंग पर ज्यादा जोर दिया जाए और प्रभावित मरीजों को समय पर इलाज मिल सके. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने लोगों से अपील की है कि बुखार, सर्दी-खांसी समेत अन्य कोई लक्षण पाए जाने पर तुरंत जांच कराएं.
आगे राजेश टोपे ने कहा कि टीकाकरण के मामले में कोल्हापुर जिला राज्य में पहले नंबर पर है, जो अच्छी बात है. उन्होंने जिले में अच्छी तरह से लागू किए गए महायुष ऐप, संजीवनी अभियान पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा, “जन्मजात रोगों से पीड़ित रोगियों पर अधिक ध्यान दें . परिजनों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि कोविड के बाद यह बीमारी न हो . संपर्क रोगियों का पता लगाएं . मृत्यु दर का ऑडिट करके त्रुटि को दूर करें . राज्य सरकार स्वास्थ्य समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर दूर करने का प्रयास कर रही है . मंत्री राजेश टोपे ने प्रशासन को कोल्हापुर में सीपीआर और इचलकरंजी में आईजीएम अस्पताल में मृत्यु दर को कम करने को प्राथमिकता देने का भी निर्देश दिया .

इससे पहले जिला कलेक्टर दौलत देसाई ने जिला प्रशासन द्वारा कोरोना को नियंत्रित करने के लिए उठाए जा रहे उपायों पर एक प्रस्तुति दी और कहा कि जिला प्रशासन संभावित तीसरी लहर का सामना करने के लिए तैयार है. इस मौके पर जिले के जनप्रतिनिधियों ने कोविड के संबंध में निर्वाचन क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की मांग की, वहीं अभिभावक मंत्री सतेज पाटिल ने जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था को सुचारु बनाने के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए सरकार का आभार जताया.

*उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की बैठक में महत्वपूर्ण बिंदु-*
राज्य सरकार की ओर से कोल्हापुर जिले को कोरोना नियंत्रण के लिए आवश्यक धनराशि उपलब्ध करायी जायेगी
कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सैंपल जांचों की संख्या बढ़ाएं, अधिक प्रभावित दर वाले गांवों में सभी नागरिकों की करें जांच
सुविधा संक्रमित रोगियों द्वारा संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी संस्थागत अलगाव की सुविधा प्रदान करना
सीपीआर इंदिरा गांधी अस्पतालों में अत्याधुनिक सेवाओं के लिए धन उपलब्ध कराएगा
चीनी मिलें ऑक्सीजन उत्पादन परियोजनाओं और कोविड देखभाल केंद्रों को गति दें
विदेश से जिले में प्रवेश करने वाले नागरिकों का अनिवार्य निरीक्षण
18 वर्ष से अधिक आयु के विकलांग व्यक्तियों का पूर्ण टीकाकरण प्राथमिकता के साथ पूरा किया जाना चाहिए,
कर अस्पतालों की आग, बिजली, ऑक्सीजन ऑडिट कराकर त्रुटियों को ठीक करें
जिला प्रशासन को उन अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए जो अस्पताल के बिलों का ऑडिट कर अधिक दर वसूलते हैं .
छोटे बच्चों को तीसरी लहर से निपटने के लिए चिकित्सा देखभाल प्रदान करें
परवानगी ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभागों में रिक्त पदों को शीघ्र भरने की अनुमति
पर्वतीय क्षेत्रों के लिए रुग्ण एंबुलेंस उपलब्ध कराई जाएंगी
महात्मा फुले जनरोग्य योजना से म्यूकोसल माइकोसिस के रोगियों का नि:शुल्क उपचार
स्वास्थ्य विभाग में संविदा कर्मियों के लंबित मानदेय का भुगतान जल्द से जल्द किया जायेगा .

ट्रेंडिंग न्यूज़:

हमारे साथ जुड़े:

500FansLike
0FollowersFollow
500SubscribersSubscribe

यह भी देखे:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here